बिमा क्या है (What Is Insurance In Hindi) Insurance Meaning In Hindi

बिमा बहुत से तरह के होते होते है बिमा को इंग्लिश में इन्शुरन्स कहते है। अगर किसी व्यक्ति का लाइफ इन्शुरन्स करवाया है और वह किसी तरह मौत को भेटता है तो लाइफ इन्शुरन्स पॉलिसी के अनुसार उसे पैसे मिलते है। जैसे व्यक्ति का जीवन बिमा (Life Insurance) करवाते है बिलकुल उसी तरह हेल्थ इन्शुरन्स, कार इन्शुरन्स और मोबाइल इन्शुरन्स जैसे बहुत से इन्शुरन्स करवा सकते है। तो आज की पोस्ट में इसी के बारे में बात करेंगे की बिमा क्या है और बिमा के कितने प्रकार है। Types of inusrance in hindi.

बिमा क्या है (What Is Insurance In Hindi) - Insurance Meaning In Hindi

बिमा क्या है (What Is Insurance Meaning In Hindi)

  • इन्शुरन्स क्या है? इन्शुरन्स (बिमा) एक तरह की सुविधा है जो Inusrance Company द्वारा दी जाती है। इन्शुरन्स कंपनी के नियम अनुसार व्यक्ति को सबसे पहले कुछ पैसे भर कर उनकी कंपनी के साथ जुड़ना होता है और फिर हर महीने नियत की गयी कुछ रकम उस कंपनी में जमा करनी होती है। जैसे की आप अगले 7 साल तक हर महीने कंपनी को 2000 रुपये जमा कराने का प्लान लेते है।
  • तो अब इन 7 साल में आपको कुछ भी होगा तो पूरा भुगतान कंपनी देगी और आपको पैसे भी मिलेंगे। और 7 साल तक कुछ नहीं होता तो जितने पैसे जमा हुए है उससे ज्यादा पैसे कंपनी द्वारा वापस मिल जाते है।
  • जीवन बिमा बिलकुल एक बैकअप प्लान की तरह काम करता है। जैसे अभी आप जीवित है बहुत अच्छी बात है लेकिन कल को अगर आपको कुछ हो जाता है तो जीवन बिमा करवाए पैसे ज्यादा रकम के साथ वापस परिवार वालो को मिल जाते है।
  • इसी तरह हेल्थ इन्शुरन्स, किसी कंपनी का इन्शुरन्स, बाइक या कार इन्शुरन्स, मोबाइल इन्शुरन्स कर सकते है। बहुत से लोग गूगल पर सर्च करते है Insurance meaning in hindi तो इन्शुरन्स का पूरा मीनिंग और मतलब वही है जो ऊपर सब बताया।

इंटरनेट क्या है

बिमा के प्रकार (Types Of Insurance In Hindi)

बिमा बहुत से प्रकार के होते है लेकिन जो मुख्य और ज़रूरी बिमा है उनके बारे में बता रहा हु। यह जानकारी पढ़ने के बाद आपको जो भी बिमा (insurance) अपने लिए सही लगे वो कर सकते है और अपने लिए एक सेफ बैकअप प्लान बना सकते है। तो चलिए शुरू करते है।

(1) जीवन बिमा (Life Insurance)

  • जीवन बिमा क्या है? जीवन बीमा का मतलब होता है कि किसी व्यक्ति की मृत्यु होने पर परिवार को बीमा कंपनी की तरफ से कुछ आर्थिक सहायता देना। काफी बार ऐसा होता है कि हमारे परिवार में मुख्य सदस्य की मृत्यु हो जाने के बाद हमारे घर का गुजारा चलाने वाला कोई नहीं होता। इस दौरान अगर व्यक्ति ने जीवन बीमा करवाया है तो इंश्योरेंस कंपनी की तरफ से उसे आर्थिक सहायता मिल जाती है और परिवार का गुजारा ठीक से चल सकता है। प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन में एक जीवन बीमा (life inusrance) जरुर करवाना चाहिए ताकि कठिन समय में उसे काम आ सके।

(2) वाहन बिमा (Vehicle Insurance)

  • अगर आपका वाहन (vehicle) चोरी हो जाये या एक्सीडेंट में कोई नुक्सान हो तो ऐसे वक़्त में Vehilce insurance काम आता है। अगर वाहन बिमा करवाया होगा तो वाहन का नुक्सान खर्च कंपनी देती है और आप अपने नुक्सान का रिकवर हो जाता है। वाहन बीमा का सबसे अधिक फायदा तब होता है जब आपके वाहन से किसी व्यक्ति को चोट लग गई हो या किसी व्यक्ति की मौत हो गई हो। इसलिए अगर आपके पास कोई वाहन है तो हमें उस का बीमा करवाना बहुत जरूरी है।

(3) स्वास्थ्य बिमा (Health Insurance)

  • मनुष्य के जीवन का कोई भरोसा नहीं होता, कब क्या हो जाये किसी को भी नहीं पता। व्यक्ति कोई गंभीर बीमारी में से गुजरता है या किसी महंगे हॉस्पिटल का महंगा बिल आता है तब Health Inusrance काम आता है। कंपनी की पॉलिसी के अनुसार जिसने स्वास्थ्य बिमा करवाया है उसे हॉस्पिटल खर्च में फायदा होता है।

(4) घर का बिमा (Home Insurance)

  • घर का बिमा में सुरक्षा का पूरा दावा किया जाता है. घर बीमा में आपके मकान को किसी भी तरह का नुकसान होता है तो उसका पूरा हर्जाना बीमा कंपनी देती है। आपके घर को प्राकृतिक रूप से अथवा कृत्रिम रूप से हुई किसी भी तरह की हानि के लिए बीमा कंपनी क्लेम देती है। प्राकृतिक रूप से हुए नुकसान में आग, भूकम्प, आकाशी बिजली, बाढ़ इत्यादि आते हैं तथा कृत्रिम रुप में घर में चोरी होना, आग लगाना, लड़ाई दंगे के कारण घर को नुकसान पहुंचाना इत्यादि शामिल है। नए और महंगे घर के लिए home insurance करवाना जरुरी है।

(5) यात्रा बिमा (Travel Insurance)

  • आप बार बार किसी विदेश यात्रा पर जाते है या हॉलिडे एन्जॉय करने के लिए कही दूर की यात्रा करते है तो ऐसी स्थिति में आपके पास यात्रा बिमा हो तो अच्छा रहता है। क्यों की इतनी दूर की यात्रा में कभी भी कोई दुर्घटना हो सकती है और स्थिति में जो आपके नुक्सान का खर्च आता है वो Travel Insurance द्वारा प्राप्त हो जाता है।

(6) दुर्घटना बिमा (Accident Insurance)

  • एक्सीडेंट इन्शुरन्स यानी की दुर्घटना बीमा के तहत अगर किसी व्यक्ति को एक्सीडेंट के दौरान चोट लग जाती है या फिर उसकी मृत्यु हो जाती है तो बीमा कंपनी उसके लिए क्लेम देती है और बीमा धारक की मृत्यु होने पर उसका क्लेम मृतक के नॉमिनी को दिया जाता है। मनुष्य जीवन में कभी भी किसी के भी साथ कुछ भी दुर्घटना घट सकती है इसलिए Accident Insurance करवाना जरुरी होता है।

(7) फसल बिमा (Crop Insurance)

  • क्रॉप इन्शुरन्स यानी की फसल बीमा के अंदर अगर आपकी फसल को किसी भी तरह का नुकसान होता है तो इसका भुगतान बीमा कंपनी देती है। फसल बीमा के तहत अगर आपकी फसल को आग लग गई, खेत में बाढ़ आ गई या किसी बीमारी की वजह से हमारी फसल खराब हो गई तो सरकार की तरफ से तथा बीमा कंपनी की तरफ से आपको मुआवजा दिया जाता है। Crop Insurance की प्रोसेस कठिन होने के कारण बहुत से किसान इस तरह का इन्शुरन्स नहीं करवाते है।

(8) मोबाइल इन्शुरन्स

  • आज सभी के हाथ में स्मार्टफोन देखने को मिल रहा है जिसके चलते कुछ बिमा कंपनी ने मोबाइल बिमा देने की सुविधा लॉन्च की है। मोबाइल इन्शुरन्स के अनुसार आपके मोबाइल को किसी भी तरह का नुक्सान यानी की मोबाइल का टूट जाना, गिर जाना ख़राब हो जाना या चोरी हो जाना जैसे नुक्सान हो तो इन्शुरन्स कंपनी उसका भुगतान करती है और नया मोबाइल दिलवाने भी मदद करती है। आज मोबाइल इन्शुरन्स का ट्रेंड चल रहा है, लोगो को खुद से ज्यादा मोबाइल की पड़ी है।

ऑनलाइन फ्री शॉपिंग कैसे करे

दोस्तों आशा करता हु की आपको इन्शुरन्स क्या है जानकारी पसंद आयी होगी, ऐसी ही जानकारी से जुड़े रहने के लिए हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करे। मिलते है अपनी नेक्स्ट पोस्ट में तब तक टेक केयर।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *